जब  तक  झुके  रहोगे,  तब  तक  गुरु  सामने  रहेगा।  झुकना  और  रुकना  सीख  लो,  बस  जिंदगी  पार  है।।

~ पूजनीय गुरूजी, पद्मभूषण पंडित राजन साजन मिश्रा

Guruji.jpg